shiv aarti

Shiv aarti- शायद शिव आरती से ही हो जाए आपका कल्याण Leave a comment

Shiv Ji ki Aarti

भगवान शिव को कोई रुद्र तो कोई भोलेनाथ के नाम से पुकारता है। भगवान Shiv aarti  में विशेष नियम नहीं होते.


और इनकी पूजा विधि के मंत्र भी बेहद आसान होते हैं। भगवान Shankar की आराधना करते समय उनकी आरती का गान करने से पूजा संपन्‍न मानी जाती है।

Lord Shiva

शिवजी का मंत्र


कर्पूरगौरं करुणावतारं संसारसारं भुजगेन्द्रहारं| सदा वसन्तं ह्रदयाविन्दे भंव भवानी सहितं नमामि॥

जय शिव ओंकारा हर ॐ शिव ओंकारा| ब्रम्हा विष्णु सदाशिव अद्धांगी धारा॥

shiv bhagwan
shiv bhagwan

Lord Shiva Aarti

ॐ जय शिव ओंकारा….

एकानन चतुरानन पंचांनन राजे|

हंसासंन, गरुड़ासन, वृषवाहन साजे॥

ॐ जय शिव ओंकारा…

दो भुज चारु चतुर्भज दस भुज अति सोहें|

तीनों रुप निरखता त्रिभुवन जन मोहें॥

ॐ जय शिव ओंकारा…

Om jai shiv omkara aarti in hindi

अक्षमाला, बनमाला, रुण्ड़मालाधारी|

चंदन, मृदमग सोहें, भाले शशिधारी॥

ॐ जय शिव ओंकारा….

श्वेताम्बर,पीताम्बर, बाघाम्बर अंगें|

सनकादिक, ब्रम्हादिक, भूतादिक संगें||

ॐ जय शिव ओंकारा…

कर के मध्य कमड़ंल चक्र, त्रिशूल धरता|

जगकर्ता, जगभर्ता, जगसंहारकर्ता॥

ॐ जय शिव ओंकारा…

ब्रम्हा विष्णु सदाशिव जानत अविवेका|

प्रवणाक्षर मध्यें ये तीनों एका॥

ॐ जय शिव ओंकारा…

काशी में विश्वनाथ विराजत नन्दी ब्रम्हचारी|

नित उठी भोग लगावत महिमा अति भारी॥

ॐ जय शिव ओंकारा…

त्रिगुण शिवजी की आरती जो कोई नर गावें|

कहत शिवानंद स्वामी मनवांछित फल पावें॥

ॐ जय शिव ओंकारा…

जय शिव ओंकारा हर ॐ शिव ओंकारा|


ब्रम्हा विष्णु सदाशिव अद्धांगी धारा॥

ॐ जय शिव ओंकारा.

shivji ki aarti
shivji ki aarti

“Om Jai Shiv Omkara” Shiv Aarti [Full Song] || Shivji Aarti Song

Jai Shiv Omkara, Om jai Shiv Omkara,

Brahma Vishnu Sadashiv Arddhagni Dhara.

Om Jai Shiv Omkara

Ekanan Chaturanan Panchanan Rajai,

Hansanan Garudasan Vrishvahan Sajai.

Om Jai Shiv Omkara

Lord Shiva Aarti inEnglish

Do Bhuj Char Chaturbhuj Das Bhuj Ati Sohe,

Trigun Roop Nirakhta Tribhuvan Jan Mohe.

Om Jai Shiv Omkara

Akshaymala Vanmala Mundmala Dhari,

Chadan Mrigmad Sohai Bhale Shashi Dhari.

Om Jai Shiv Omkara

Shvetambar Pitambar Baghambar Ange,

Sankadik Garunadik Bhootadik Sange.

Om Jai Shiv Omkara

Kar ke Mashya Kamandalu Chakra Trishooldhari,

Sukhkari Dukhhari Jag Palankari.

Om Jai Shiv Omkara

Brahma Vishnu Sadashiv Jaanat Aviveka,

Pranvaakshar me Shobhit Yah Tinon Eka.

Om Jai Shiv Omkara

Trigun Swami ji Ki Aarti Jo Koi Nar Gave,

Kahat Shivanand Swami Manvanchhit Phal Pave.

Om Jai Shiv Omkara

What are some beautiful pictures of Lord Shiva?

lord shiva की pictures डाउनलोड करने के लिए आप इस लिंक पर क्लिक करे

shiv bhagwan
shiv bhagwan

Shiv bhajan

धन धन भोलेनाथ बाट दिये तीन लोक एक पलभर में
ऐसे दिन दयाल हो शम्भु भरो खजाना पलभर में

प्रथम वेद ब्रह्मा को दे दिया बने वेद के अधिकारी
विष्णु को दिया चक्र सुदर्शन लक्ष्मी सी सुन्दर नारी
इन्द्र को दिया कामधेनू और ऐरावत सा बलकारी
कुबेर को सारी वसुधा का बना दिया यो अधिकारी
अपने पास पात्र नही रखा,मग्न रहें नीत खप्पर में- ऐसे

अमृत तो देवताओं को दे दिया आप हलाहल पान किया
ब्रह्मग्यान दे दिया उसी को जिसने तेरा ध्यान किया
भागीरथ को गंगा दे दी सब जग ने स्नान किया
बडे बडे पापी को तारा पलभर में कल्याण किया
आप नशे में मग्न रहो,और पीओ भांग खप्पर में-ऐसे दिन

लंका तो रावण को दे दी बीस भुजा दस शिष दिये
मनमोहन को दे दी मोहनी मोर मुकुट और इस दिये
रामचंद्र को धनुष बाण और हनुमत को जगदीश दिये
मुक्त हुये काशी के वासी भक्ति में जगदीश दिये
अपने तन पे वस्र ना राख्या-मगन रहो बाघम्बर में-ऐसे दिन

वीणा तो नारद को दे दी गणधर्वो को तैने राग दिया
ब्राह्मण को दिया कर्मकांड और संन्यासी को त्याग दिया
जिसपे तुम्हरी कृपा हुई तुमने उसको तो अनुराग दिया
जिसने ध्याया उसी ने पाया ऐसा यो वरदान दिया
प्रभु मस्त रहो आप प्रर्वत उपर,और पिओ भांग नित खप्पर में
ऐसे दिन दयाल हो शम्भु भरो खजाना पलभर में

By:-संदीप स्वामी
खिजुरीवास, अलवर(राज०)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *