Beautiful Navratri Images 2018-Wishes, Quotes, Images, Greetings

Navratri Kya Hai – Navratri Images?

नव अर्थात नया अथवा संख्या में 9 व रात्रि मतलब रात नवरात्री का अर्थ अगर हम देखें तो 9 रात्रियों का त्योहार यह त्योहार विशेष रूप से आश्विन मॉस में शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा से मनाया जाता है| नवरात्री में माँ भगवती का पूजा पाठ किया जाता है व पूरे 9 दिन के व्रत किये जाते हैं इसका समापन अष्ठमी व नवमी को अपने घर में अथवा मंदिर में कन्या पूजन से होता है |

माँ दुर्गा (Maa Durga Navratri Images) के नव रूपों का आशीर्वाद इस दिन प्राप्त होता है इसका सम्पूर्ण विवेचन श्री मार्कण्डेय पुराण में मिलता है इन 9 दिनों में सभी माताएं माँ दुर्गा की पूजा आराधना पूजा पूरे मन से करती हैं जिसका फल उन्हें जल्द हे प्राप्त होता है |

हिन्दू धर्म में इन 9 दिनों का विशेष मह्त्व है 9 दिन मतलब 9 तिथियां तिथि से हे इन 9 दिनों का मह्त्व है इसलिए यह त्योहार इतनी धूम धाम से मनाया जाता है |


Navtrati mei 9 Dino Ka Kya Mtlab Hai ?

नवरात्री में 9 दिनों का मतलब – नवरात्री पर्व आश्विन मास की प्रतिपदा से शुरू होकर दशमी तिथि में रावण दहन  को समाप्त होता है

१- प्रथम दिन- प्रथम दिन शैलपुत्री माता  माँ दुर्गा का पहला रूप मानी जाती हैं शैल मतलब पर्वत होता है अर्थात पर्वतराज हिमालये की पुत्री  माँ पारवती को ही शैलपुत्री कहा जाता है प्रतिपदा के दिन इनकी ही पूजा उपवास   होती है  और नवरात्री पर्व का आरम्भ होता है

२-दूसरा दिन -दूसरा दिन ब्रह्मचारणी माता माँ दुर्गा के दूसरे रूप को माना जाता है इसमें माँ के इस रूप की पूजा कर शाम के समय  उपवास  खोलकर रात्रि में माँ के भजनो से माँ को प्रसन्न किया जाता है


३-तीसरा दिन -तीसरा दिन चन्द्रघंटिका माता माँ दुर्गा के तृतीय  रूप माना जाता है इस दिन इनकी पूजा करके माँ दुर्गा को प्रसन्न किया जाता है

४-चतुर्थ दिन -चौथा दिन कुष्मांडा माता माँ दुर्गा के चतुर्थ रूप को माना जाता है इस दिन इनकी पूजा करके माँ दुर्गा भवानी को प्रसन्न किया जाता है

५  पांचवा  दिन :  पांचवा दिन स्कंध माता माँ दुर्गा के पंचम रूप को माना जाता है इस दिन इनकी पूजा करके माँ दुर्गा को प्रसन्न किया जाता है

६ छठा  दिन : छठा दिन  कात्यायनी माता माँ दुर्गा के छठे रूप को मां जाता है  इस दिन इनकी पूजा करके माँ दुर्गा को प्रसन्न किया जाता है

७ सप्तम दिन : सांतवा  दिन काल रात्रि ( काली माता ) माँ दुर्गा के सप्तम रूप को माना जाता है इस दिन विशेष रात्रि में बलि अथवा तंत्र पूजन का महत्व है इस विधि माँ दुर्गा को प्रसन्न किया जाता है

८ अस्टम दिन : आठवां दिन महागौरी माता माँ दुर्गा के आठवें रूप को माना जाता है इस दिन माताएं अपना व्रत भी खोलती हैं माता का पूजन करके व आज के दिन ही 9 कन्याओं को जीमाके पूजन संपन्न करते हैं विशेष  कुछ माताएं इस प्रक्रिया को नवमी तिथि के दिन भी करती हैं या दशमी के दिन भी करती हैं

९ नवम दिन -नवां दिन सिद्धिधात्री माता माँ दुर्गा के नवें रूप को माना जाता है यह अंतिम नवरात्र माना जाता है इस दिन सभी को माँ भगवती की पुरानी प्रतिमाओं को गंगा जी में प्रवाहित कर इस नवरात्र में पूजी गयी प्रतिमाओं को रखना चाहिए  इससे उनके घर में सुख समृद्धि बानी रहती है

Navtratri Pujan Ki Vidhi Kya Hai ?

पूजन विधि -सर्वप्रथम स्नान व नित्य कर्म पूरित करके  सम्पूर्ण  घर को गंगा जल से पवित्र करें और अपने पूजा स्थान को देसी गौ के गोबर से लीपकर सुद्ध करलें फिर माता की २ चौकियां बनालें १ में गणपति व पञ्च देवो की स्थापना करें और २ में माता भगवती को स्थापित करें

जॉव इत्यादि के साथ सूंदर तरीके से सजा के माता की चौकी को तैयार करलें |फिर शुद्धचित्त से माता का पूजन प्रारम्भ करें और अपना प्रथम व्रत प्रारम्भ करें इस दिन से अंतिम व्रत तक फलाहार ही करें यह ध्यान  रखें की इन दिनों ब्रह्मचर्य का पालन करें |

सामग्री -दूप ,दीप,फूल ,फल ,लाल चुन्नी व अन्य पूजन सामग्री….

Navratri Vrat Ke Niyam Kya Hai ?

व्रत के नियम आश्विन मास शुक्ल पक्ष प्रतिपदा से यहां व्रत प्रारंभ होता है तथा नवमी पर्यंत तक चलता है प्रतिदिन व्रत में विशेष रूप से मां भगवती की पूजा पाठ आराधना इत्यादि किए जाते हैं

इसके नियम यह हैं की इसमें प्रातः कॉल से शाम तक अपनी श्रद्धा अनुसार निर्जला अथवा फलाहारी रहा जाता है वह शाम के समय इस समय व्रत खोलने के लिए कुछ माताएं फलाहार करती है

तथा कुछ नवमी के दिन व्रत को खोलती है इससे मिलने वाला फल उनके परिवार मैं सुख समृद्धि लाता है इसमें एक विशेष नियम यह है


की इन व्रत करने वालों को ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहिए तथा माता के भजनों से उनको प्रसन्न करना चाहिए | व्रत में केवल फल एवं दूध जल काही सेवन करें  | तथा शाम को भी ऐसी कोई सब्जी यह तामसिक खाद्य पदार्थ ना खाएं | जिससे व्रत खंडित हो सात्विक रहे और भजन करें |

Images Of Navratri In Full HD

navratri images greetings

navratri images hd download

We will be happy to hear your thoughts

Leave a reply