सावन में घर ले आये ये चमत्कारी शिवलिंग, महादेव की बरसेगी जमकर कृपा 4


Narmadeshwar Shivling - नर्मदेशर शिवलिंग

Narmadeshwar Shivling – भगवान् शिव (Lord Shiva) और प्रकृति का एक अद्भुत संयोग जिसका अंदाजा सिर्फ इसी बात से ही लगाया जा सकता है की नर्मदेश्वर शिवलिंग पूरी दुनिया में सिर्फ एक ही जगह पाया जाता है और वो है नर्मदा नदी के किनारे बसे बकवान नामक गाँव में.


नर्मदेशर शिवलिंग अपने आप में प्रकृति की संरचना है. यहाँ नर्मदा नदी में पाए जाने वाले पत्थर सबसे अलग होते है जो बहाव के कारण अपने आप में ही अंडाकार हो जाते है. इसके बाद ये पत्थर गाँव के लोगो द्वारा इकट्ठे किये जाते है और फिर तरासने के बाद इन्हे पूरी दुनिया में भेजा जाता है.

घर में स्थापित किए जाने वाला अत्यन्त शुभ नर्मदेश्वर शिवलिंग

big narmadeshwar shivling, original narmadeshwar shivling

Buy Narmadeshwar shivling

Narmadeshwar Shivling benefits

ऐसा माना जाता है की एक मिटटी के लिंग की पूजा करने से जो फल मिलता है उससे सौ गुना ज्यादा फल नर्मदेशर शिवलिंग की पूजा करने से मिलता है. इसिलए घर में नर्मदेश्वर शिवलिंग का रखना शुभ माना गया है. नर्मदेश्वर शिवलिंग अलग अलग साइज के होते है और आपको ये ध्यान रखना है की जो शिवलिंग आप घर में रखने जा रहे है वो अंगूठे के आकार जितना होना चाहिए और बहुत अधिक बड़ा नहीं होना चाहिए


  • बाणलिंग अर्थात नर्मदेश्वर की पूजा करने से घर की गरीबी दूर चली जाती है और धन, ऐश्वर्य एवं मोक्ष की प्राप्ति होती है.
  • यदि आप लम्बे समय से बीमार है तो रोजाना महामृत्युंजय मंत्र बोलते हुए शिवलिंग का जलाभिषेक करे इससे सभी रोगो से मुक्ति मिलती है
  • श्रावण के महीने में इसकी पूजा विशेष फलदायी मानी गयी है और भगवान् शिव की कृपा से हर मुंहमांगी इच्छा पूरी होती है
  • भगवान शंकर ज्ञान के देवता हैं और लिंगाष्टक में कहा गया है–’बुद्धिविवर्धनकारण लिंगम्’, अत: शिवलिंग पूजा बुद्धि का वर्धन करती है तथा साधक को अक्षय विद्या प्राप्त हो जाती है।

Narmadeshwar shivling online

जानिए जाने माने पंडितजी क्या कहते है नर्मदेश्वर शिवलिंग के बारे में

कहा जाता है नर्मदा नदी का हर कंकर शंकर है और सबसे ख़ास बात ये है की इसके प्राण-प्रतिष्ठा कि आवश्यकता नहीं होती, इसका पूजन सीधे स्थापित करके ही किया जा सकता है

Lord Shiva wallpaper

Narmadeshwar Shivling Pooja

शिवलिंग को आप घर के मंदिर में स्थापित कर सकते है जिसमे उनका मुख उत्तर की ओर होना चाहिए। शिवपूजा में पवित्रता का अत्यन्त महत्त्व है, अत: स्नान करके रुद्राक्ष व भस्म लगाकर शिवपूजा करने से उमामहेश्वर की प्रसन्नता प्राप्त होती है। शास्त्रों में लिखा है कि जिस इष्टदेवता की उपासना करनी हो उस देवता के स्वरूप में स्थित होना चाहिए।

नर्मदेश्वर शिवलिंग का वैसे तो आप हर रोज पूजन कर सकते है लेकिन कुछ ऐसे विशेष दिन होते है जिनमे शिवलिंग पूजन करने से विशेष फल की प्राप्ति होती है जैसे श्रावणमास, सोमवार, प्रदोष, मासिक शिवरात्रि, पुष्य नक्षत्र. इन दिनों में शिवलिंग को पंचामृत से स्नान कराना चाहिए। फिर चंदन, अक्षत, इत्र, सुगन्धित फूल या श्वेत फूल (सफेद आक) चढ़ाएं।


शिवलिंग की पूजा करने के लिए पूर्व दिशा की ओर मुख करके आसन पर बैठकर शिवलिंग की पूजा करें। शिवलिंग को एक बड़े कटोरे या थाली में रखकर प्रतिदिन ‘ॐ नम: शिवाय’ या प्रणव का जप करते हुए जल, कच्चा दूध या गंगाजल से स्नान कराएं।

भगवन शिव को बेलपत्र भी जरूर चढ़ाएं और शिव के निर्माल्य यानि जल को पेड़ पौधों पर चढ़ा दें, उससे पैर नहीं लगने चाहिए। बाणलिंग या नर्मदेश्वर शिवलिंग की पूजा में आवाहन और विसर्जन नहीं होता है। नर्मदेश्वर शिवलिंग का प्रसाद ग्रहण कर सकते हैं।

Buy Narmadeshwar Shivling

अगर आपकी कुंडली में ग्रह दोष है जिसके कारण आपके जीवन में धन की कमी, नौकरी की समस्या और कई प्रकार की बाधा है तो इसका सिर्फ एक ही उपाय है – महादेव का पूजन और श्रावण महीना भगवान् शिव का महीना माना गया है. श्रावण के महीने में नर्मदेशवर का पूजन करने से विशेष फल की प्राप्ति होती है.

Price - 500 Rs (Special Offer)

Days
Hours
Minutes
Seconds

About Narmadeshwar Shivling

Most frequent questions and answers

नर्मदेश्वर शिवलिंग अलग अलग आकार और प्रकार के होते है. शिवलिंग का आकार अंगूठे से लेकर 2 फ़ीट तक हो सकता है और बड़े शिवलिंग को मंदिरो में स्थापित किया जाता है. नर्मदेश्वर शिवलिंग पर प्राकर्तिक रूप से अलग अलग आकृति होने से अलग अलग नाम दिया जाता है

शिवलिंग की पूजा विशेष फलदायी मानी गयी है और पूजा करते समय साफ़ सफाई का जरूर ध्यान रखे. इस पोस्ट में ऊपर बताई गयी पूजा विधि से आप पूरे विधि विधान से पूजा कर सकते है.

जैसा की आप जानते है नर्मदेश्वर शिवलिंग नर्मदा नदी से निकलता है और इसकी पहचान मापने का मध्य तौर पर कोई माप दंड नहीं है. आम तौर पर शिवलिंग के ऊपर प्राकर्तिक रूप से कुछ आकृति या कुछ चिन्ह पाए जाते है जिन्हे देख कर इसके बारे में पता लगाया जा सकता है. हालंकि इसे आप किसी विश्वसनीय जगह से खरीद सकते है.

जी हाँ, आप इसे घर पर रख कर पूजा कर सकते है

इस पोस्ट में हमने नर्मदेश्वर शिवलिंग को आर्डर करने का लिंक दिया है. आप अपना नाम,पता और फ़ोन देकर इसे अपने घर मंगवा सकते है.

इस पोस्ट में हमने नर्मदेश्वर शिवलिंग को आर्डर करने का लिंक दिया है. आप अपना नाम,पता और फ़ोन देकर इसे अपने घर मंगवा सकते है

इस पोस्ट में हमने नर्मदेश्वर शिवलिंग को आर्डर करने का लिंक दिया है. आप अपना नाम,पता और फ़ोन देकर इसे अपने घर मंगवा सकते है.

नर्मदेश्वर शिवलिंग - अभी आर्डर करे

4 Comments

  1. Abhi maine rate pata Karne ke liye form bhara hai. Aap ise order mat samjhna.kripya muje rate bataye. Abhi mat bhejna

    1. iska rate 500 rs hai

Trackbacks and Pingbacks

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *