Mahabharat Ka Youdh

Mahabharat Ka youdh- what happened after war 1

Mahabharat Ka Youdh

महाभारत एक धर्म यूद्ध है। सत्य की असत्य पर विजय है। श्री कृष्णा कहते है जब जब धर्म की हानि होती है, मेरा जन्म हो ता है ।उसकी रक्षा करने के लिए श्री कृष्णा ही वह परम पुरुष भगवान् हैं, Mahabharat Ka Youdh  जिसमे श्री कृष्णा ने एक बहुत ही अहम् भूमिका निभाई थी।


Mahabharat mein dharam dev ke avtar kaun hai?

युधिस्ठिर महाराज कुंती महारानी के पुत्र थे। जो सभी पांच पांडवों में ज्येष्ठ थे। युधिस्ठिर के पिता पाण्डु थे। Mahabharat Ka Youdh जिसमे युधिष्ठिर ‘धर्म देव’ के अवतार कहे जाते हैं। महाराज युधिस्ठिर अपनी सत्य वादकता एवं धर्म के प्रति उनकी शुद्ध निष्ठा के लिए विख्यात थे।

Mahabharat kisne likhi?

महाभारत ग्रंथ की रचना वेद व्यास ने की और इसको श्री गणेश जी द्वारा लिखा गया है। Mahabharat एक अद्भुत ग्रन्थ है, जो हमें इस संसार में जीने हेतु समस्त मर्यादाओं को भली भाँती कैसे पूर्ण करे यह शिक्षा देता है।


yagya me kya de jis se hamare purvaj khush hon?

गीता में भगवान श्री कृष्ण ने कहा है कि वह पितरों में अर्यमा नामक पितर हैं। यह कह कर श्री कृष्ण यह स्पष्ट करते हैं कि पितर भी वही हैं पितरों की पूजा करने से भगवान विष्णु की ही पूजा होती है।

Mahabharat Ka Youdh

Kaise hote hain hamare pitra khush?

श्राद्ध के दौरान पितरों को आप निम्न 7 पदार्थों का अगर भोग देंगे तो वह खुश होंगे। जो निम्न प्रकार हैं,(mahabharat images)

गंगाजल, दूध, शहद, तरस का कपडा, दौहित्र कुश और तिल भी दें। आपको निम्न पदार्थोँ का भोग नहीं लगाना चाहिए जैसे चना, मसूर, खीरा, काला नमक, लहसुन, बड़ी सरसों और लौकी।

Mahabharat aur Ramayan kis bhasha me likhi gai hai?

Mahabharat और रामायण सर्वप्रथम संस्कृत भाषा में लिखी गई थी। रामायण की रचना आदि कवि बाल्मीकि ने की थी और महाभारत की रचना ऋषि वेदयास द्वारा तथा उसको गणेश जी ने लिखा।

Where is Ashwatthama now?

Mahabharat Ka Youdh जिसमे अश्वत्थामा को को श्राप था की वह कलियुग के अंत तक भटकते रहेंगे। बहुत से योगियों द्वारा यह भी दावा करते हैं की वह अभी हिमालयी तलहटी मे रहते है। अस्वथामा हर सुबह एक शिवलिंग पर फूल चढ़ाते हैं।(hindi kahaniya)

Mahabharat Ka Youdh

Ab ashvatthaama kahaan hai?

ऐसा कहा जाता है अस्वथामा उत्तरी हिमालय क्षेत्र में रहते हैं और उनकी एक आँख में पट्टी बधी हुई रहती है। जब कभी कोई उनसे मिल लेता है तो वो उन्हें खीर का भोग करवाते हैं।
अश्वत्थामा को देखने बहुत दुर्लभ हैं क्योंकि उनके पास दृश्यमान होने या अदृश्य रहने की शक्ति है।Mahabharat Ka Youdh

Was there anything good about Duryodhana?

हाँ, दुर्योधन एक अच्छा इंसान था। अगर बहुत गहराई तक जाके बात करें तो शायद दुर्योधन भी कुछ हद्द तक अच्छा व्यक्ति था।
वह सिंहासन के लिए लड़ रहा था, क्योंकि वह उसका अधिकार था। वह पांडवों के खिलाफ था क्योंकि उसने सोचा था कि वे सिंहासन के सही उत्तराधिकारी नहीं थे क्योंकि वे जैविक रूप से पांडु के पुत्र नहीं थे।

Kya duryodhan ke baare mein kuchh achchha tha?

उन्होंने पासा खेल के दौरान द्रौपदी का अपमान किया। सब कुछ द्रौपदी द्वारा शुरू किया गया था, उसने राजकुमार का अपमान किया और कहा, “एक अंधे आदमी का बेटा भी अंधा ही होता है।” यही वह जगह थी जहां यह बदला पासा खेल में शुरू हुआ और समाप्त हुआ।(who wrote mahabharata)

Mahabharat Ka Youdh

Who was the strongest character in Mahabharata?

Mahabharat Ka Youdh जिसमे  द्रौपदी और कर्ण सबसे मजबूत पात्र था।
द्रोपदी के पांच पति थे। उनमें से कोई भी उसे बचाने के लिए आगे नहीं आया। जब उसे सार्वजनिक रूप से अपमानित किया गया था। फिर भी वह चौदह वर्ष निर्जन में उनके साथ थीं, जबकि पांडव की अन्य पत्नियां अपने माता-पिता के राज्य में सुरक्षित थीं।
उसने कुरुक्षेत्र युद्ध में अपने पिता द्रुपद और उनकी बहन शिकंदी को खो दिया। उसने युद्ध के बाद अपने भाई द्रष्टतिमुम्ना और सभी पांच बेटों को खो दिया।
ये भी है की उन्होंने गलतियां भी की थी जैसे उन्होंने कर्ण को सुत पुत्र कहा था। जब एक बार दुर्योधन फिसल गए थे तो उन्होंने कहा अंधे का पुत्र अँधा ही होता है।

Mahaabhaarat ka sabase majaboot charitr kaun tha?

कर्ण वह अपनी मां कुंती के लिए नाजायज बेटा था। जैसे ही वह पैदा हुआ था, उन्होंने उसे नदी में छोड़ दिया। उनका लालन पोषण राधे नामक जुलाहे ने किया।
तीरंदाजी में अर्जुन से कर्ण हमेशा बेहतर होता है। लेकिन उनकी नीच जाती के कारण, उन्हें अपनी प्रतिभा साबित करने का मौका नहीं मिला। हर किसी ने उन्हें सुत पुत्र कहा, हालांकि वह क्षत्रिय राजकुमार था।

Was Karna a Dalit?

कर्ण माता कुंती के ही पुत्र थे। एक ऋषि ने माता कुंती को मंत्र दिया था कि आप जिस भी देवता का आह्वान करेंगे वो देवता प्रसन्न होकर आपको पुत्र की प्रदान करेंगे माता कुंती ने सूर्य देव का आह्वान किआ और मंत्र का जाप किया तो कर्ण उत्पन्न हुए।Mahabharat

Mahabharat Ka Youdh

Kya karn ek dalit tha?

विवाह से पहले पुत्र प्राप्त हो जाने के कारन माता कुंती ने लज्जा वश होकर उन्होंने अपने पुत्र को गंगा में प्रवाहित कर दिया था और तब किसी किनारे पर राधे नामक जुलाहे को वो मिले और उन्होंने ही उनका लालन पालन किआ, तब से उन्हें राधेय भी कहा जाता है ना की सूत पुत्र।(mahabharat in hindi)

Why was Draupadi jealous of Subhadra?

अर्जुन ने सुभद्रा से विवाह किया। विवाह बिना भाइयों और द्रोपदी को बताकर किया गया। अर्जुन ने जब राज्य में प्रवेश किया तो सुभद्रा को यह समझाया की वो सबसे पहले अकेले में जाकर द्रोपदी से मिले और आशीर्वाद लें उन्होंने ऐसा ही किया और द्रोपदी ने उन्हें आशीर्वाद दिया।

Draupadee ko subhadra se ershya kyon the?

जब उन्हें ये पता चला की इनका विवाह अर्जुन से हुआ है तो वो क्रोधित जरूर हुई और स्वाभाविक भी है की ईर्ष्या भी हुई। परन्तु मान मर्यादा को देखते हुए उन्होंने सुभद्रा को अपना भी लिया और यह पे यह कहना अनुचित होगा की द्रोपदी को सुभद्रा से ईर्ष्या थी। (Mahabharat Ka Youdh)

Mahabharat Ka Youdh

What is the best conversation between two characters from Mahabharat?

Mahabharat Ka Youdh जिसमे सबसे महत्वपूर्ण तो गीता है जो कृष्णा और अर्जुन के बीच हुई थी। परन्तु यहाँ पर सबसे मत्वपूर्ण पात्र कर्ण का उल्लेख जरूरी है।
जब अर्जुन को यह पता चला की कर्ण उसका भाई है और उसको उसने मार डाला है तब श्री कृष्णा से निम्नलिखित बात हुई जो सबसे महत्वपूर्ण हैं।
अर्जुन: मैंने आपके कारण अपने भाई (कर्ण) को मार डाला।
कृष्ण: क्या तुम्हें यह लगता है कि तुमने कर्ण को मार डाला? नहीं, यह तुम नहीं हो। तुम्हारे सामने,छह लोग हैं जिन्होंने उसे मार डाला।


Mahabharat ke do aise paatra jinke bech bahoot hi mahatvaporna baaten hui?

1. पहला इंद्रा जिसने उससे कवच भेट रूप में मांग लिया।
2. परशुराम का अभिशाप जो उसे मिला की अंत समय में वह अपनी विद्या भूल जाएगा।
3. एक ब्राह्मण जिसने कर्ण को श्राप दिया की उसका रथ अंत समय में फंस जाएगा।
4. माँ कुंती जिसने वचन माँगा की नागशष्त्र का प्रयोग वो अर्जुन पर नहीं करेगा।
5. राजा शाल्य जो सारथि के रूप में थे अंत समय सहायता नहीं की यह भ्रामण का अभिशाप था।
6. और आखिरकार, मैंने, आपको नागास्त्र से बचाया रथ की गति को काम करके।

यही वो 6 लोग थे जिनके कारण कर्ण मारा गया न की तुम्हारे द्वारा।

How dangerous was Arjuna after the death of Abhimanyu?

जब अर्जुन को यह समाचार मिला तो वह बहुत ही क्रोधित हुए और उन्होंने शपथ ली की Mahabharat Ka Youdh जिसमे जयद्रथ अभिमन्यु की मृत्यु का मुख्य कारण था, अगले दिन सूर्यास्त से पहले मृत्यु को प्राप्त होगा अगर ऐसा नहीं हुआ तो वह स्वयं ही अग्नि में खुद को समर्पित कर देंगे।

Mahabharat Ka Youdh

Kya thi arjun ki pratigya abhimanyon ke mrityu ke baad?

इस प्रतिज्ञा को पूर्ण करने में श्री कृष्ण भगवान् ने उनकी बहुत ही सहायता की। उन्होंने अपने सुदर्शन चक्र के द्वारा अगले दिन दोपर में ही सूर्य को धक दिया, जिससे सूर्यास्त होने का आभास हुआ जयद्रथ जो छुप गया था और बाहर निकल आया तभी कृष्णा भगवान् ने अपना सुदर्शन चक्र धारण किया और पुनः सूर्य दिखने लग गए और अर्जुन ने जयद्रथ को मार डाला। (arjun mahabharat)

How old was Karna when he died during Mahabharata?

कर्ण सूतपुत्र थे और माँ कुंती उनकी माता थी। जिनका लालन पालन राधे नामक जुलाहे ने किया। कर्ण की मृत्यु हुई उस वक्त वह 107 वर्ष के थे ऐसा प्रमाण पुराणों में आता है।

Karna ki aayu kya thi uske mrityu ke samay?

कर्ण की मृत्यु महाभारत (Mahabharat Ka Youdh) के 17 वे दिन हुई थी।

Mahabharat Ka Youdh

Why did Kauravas lose the Mahabharatha war despite having the best-in-class warriors and a larger army?

सुनियोजित प्रबंधन के बिना कोई भी युद्ध जितना मुश्किल होता है कौरवो के पास बहुत ही अच्छे योद्धा थे। एक अच्छी सेना थी फिर भी वो हार गए। सबसे पहली बात तो यह की Mahabharat Ka Youdh जिसमे उन्होंने बुराई का साथ दिया था। जो आध्यात्म की दृष्टि से स्पष्ट है की जब जब धर्म की हानि होती है, भगवान् इस धरती पर उसकी रक्षा के लिए अवतरित होते हैं। दूसरी और पांडवों का लक्ष्य बिल्कुल साफ़ था, कौरवो का नाश परन्तु बिना किसी युद्ध निति के और स्वार्थ के साथ कौरवो ने युद्ध किया।

Sarvashreshth varg ke yoddhaon aur ek badee sena ke baavajood kaurav mahaabhaarat yuddh kyon haar gae?

वहीँ दूसरी और श्री कृष्णा के सानिध्य में पांडवों ने निष्कामता और सच्चाई से युद्ध जीत लिया। सत्य की हमेशा विजय होती है धर्म की हमेशा विजय होती है। यहाँ पर बहुत से उदाहरण हम दे सकते हैं जो महाभारत में स्पष्ट रूप से सामने आते है परन्तु अन्य तथ्यों में न उलझते हुए यही सबसे सरल और उचित रहेगा की धर्म की हानि कभी नहीं हो सकती बुराई कितनी भी ताकतवर क्यों न हो नहीं जीत सकती।(who wrote mahabharata)

Why did Karna not use the Shakti Weapon to kill Arjun in the Virat War?

युद्ध के दौरान जब घटोत्कच ने दुर्योधन को पकड़ लिया था तो कर्ण ने अपनी शक्ति अश्त्र को प्रयोग कर दिया नियम के अनुसार आप एक ही बार शक्ति अश्त्र का किसी पर भी प्रयोग कर सकते हैं यदि कर्ण चाहता तो उस शक्ति अश्त्र से एक ही रात में सभी पांडवो को मार देता और युद्ध ख़त्म कर देता।

Mahabharat Ka Youdh

Karn ne viraat yuddh mein arjun ko maarane ke lie “Shakti” ashtra ka upayog kyon nahin kiya?

कर्ण ने वह अश्त्र घटोत्कच को मारने में प्रयोग कर दिया था। क्योंकि उस वक्त उनके पास कोई और रास्ता ही नहीं था और दुर्योधन को बचाने के लिए अस्त्र का प्रयोग कर्ण को करना पड़ा। (Mahabharat Ka Youdh)

Who did Karan marry in the Mahabharata?

Mahabharat Ka Youdh जिसमे दानवीर कर्ण की दो पत्निया थी महाभारत में इन दो पात्रों के बारें में अधिक वर्णन नहीं मिलता है।

karan ka vivah kisase hua tha?

वैसे तो कर्ण के दो विवाह हुए थे पहली पत्नी का नाम वृषाली था- वह एक आदर्श महिला थी। उसने कर्ण की मृत्यु होने पर खुद भी चिता में समाधी ले ली थी। कर्ण की दूसरी पत्नी सुप्रिया थी उसको दुर्योधन की पत्नी भानुमति के सहेली के रूप में जाना जाता था।

What is the bow of Arjun known as?

अर्जुन धनुष को गांडीव कहा जाता था। यह ब्रह्मा द्वारा निर्मित शिव का दिव्य धनुष था जो इंद्र से सोम तक फिर वरुण और अर्जुन तक पहुंचा।

Arjun ke dhanush ka naam kya tha?

गांडीव बहुत ही शक्तिशाली अश्त्र में गिना जाता था | यह  धनुष  किसी भी धनुष को नष्ट कर  सकता था और किसी भी अश्त्र को नष्ट करने में सक्षम धनुष था।

Mahabharat Ka Youdh

Where can I get the full book of Mahabharat in Hindi PDF?

आप निचे दिए गए लिंक से इस पुस्तक को प्राप्त कर सकते हैं

Mahabharat PDF in Hindi 

source: motivationalstoriesinhindi.in

Who are the 18 people alive post-Kurukshetra battle?

Mahabharat Ka Youdh इतिहास का सबसे भयंकर युद्ध था जो 18 दिन तक चल था जिमे अंत में केवल 18लोग अंत में बचे थे।

Kurukshetr yuddh ke baad kaun 18 log jeevit hain?

भीम
अर्जुन
युधिष्ठिर
नकुल
सहदेव
द्रोणाचार्य
कृपाचार्य
अश्वथामा
विदुर
दृष्टाराष्ट्रा
गांधारी
कुंती
द्रुपद
सुभद्रा
कुलुपी
उत्तरा
कृष्णा
सत्तोकी

What are some of the important life lessons from Mahabharata?

गलत संगती आपको हमेशा आपके पतन का ही कारण बनाती है। शकुनि के संगती ने दुर्योधन को विनाश के राह में अग्रसरित कर दिया।
बिना शर्त, समर्थन और वफादार दोस्त आपको हमेशा उन्नति की ओर अग्रसारित करता है। जैसे श्री कृष्णा श्री कृष्णा ने पांडवो को विजयी बनाया श्री कृष्णा ने धर्म की राह पर चलते हुए विजय प्राप्त की।
बहुत ज्यादा मोह होना भी आपके और आपके वंश के अंत का कारन बन सकता है। जैसे धृतराष्ट्र पुत्र मोह में अंधे हो गए सब कुछ महाबाहृत के युद्ध में जाकर ही समाप्प्त हुआ।

Mahabharat se kya sheekh milti hai?

आधा ज्ञान सबसे ज्यादा खतरनाक हो सकता है जैसे अभिमन्यु , उनको आधा ज्ञान था जो उनकी मृत्यु का कारण बना।
किसी भी औरत को कभी भी अपमानित न करे। उसके श्राप से आपका और आपके सारे वंश का पतन होना निश्चित हो जाता है।
आपका कुछ कर गुजरने का जूनून आपको सफलता की और अग्रसारित कर देता है। जैसे एकलव्य जो बिना गुरु के ही अर्जुन से श्रेष्ठ धनुर्धर बन गया।(moral stories in hindi)

Mahabharat Ka Youdh

Where can I download the whole series of Mahabharata produced by B.R. Chopra in HD?

आप इसे निम्न लिंक से डाउनलोड कर सकते है

Whole series of Mahabharata

: source code- Google play store

Who killed Ghatotkacha?

Mahabharat Ka Youdh जिसमे घटोत्कच को कर्ण ने मारा था।

One Comment

Trackbacks and Pingbacks

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *