Kitchen vastu

Kitchen vastu- Which is a better house as per Kitchen Vastu? Leave a comment

What remedy can be used for kitchen vastu?

माँ, दादी, नानी या पत्नी किन्ही से भी अगर उनका सबसे पसंदीदा स्थान पूछें तो अवश्य होगा किचन। वैसे भी किचन घर का सबसे महत्त्वपूर्ण हिस्सा होती है।  Kitchen vastu के अनुसार रसोई का निर्माण बहुत ही खास तरीकों का ध्यान रखते हुए करना चाहिए। वास्तु अनुसार किचन में पहले रसोई और चूल्हे के लिए सही स्थान का चुनाव होना बेहद जरुरी है। इन सब के बाद किचन की खिड़की और दरवाजों के लिए सही दिशा का चुनाव बेहद जरुरी है।


Kitchen vastu in hindi

वास्तु शास्त्र के अनुसार आपका किचन दक्षिण पूर्ण आग्नेय कोण में होना चाहिए। जो वास्तु के अनुसार रसोई घर की सबसे अच्छी दिशा मानी जाती है। कभी किसी कारण वश हमारे किचन की दिशा वास्तु अनुसार न बन पाए, तो आप विकल्प के रूप में उत्तर पश्चिम दिशा का प्रयोग भी कर सकते है।

Vastu What is an important kitchen Vastu for a West North West kitchen?

जो वास्तु के अनुसार लाभप्रद सिद्ध होगी।  वास्तु शास्त्र में उत्तर पूर्व दक्षिण पश्चिम दिशा का चुनाव कभी भी नहीं करना चाहिए।


 Kitchen vastu

What is the vastu for a kitchen located in the North West?

ध्यान रखनाचाहिए की यदि आपने उत्तर दिशा में तो रसोई का निर्माण कभी नहीं करना चाहिए।  Kitchen vastu में बताया जाता है की मिड वेस्ट और सोथेरन वेस्टमें कभी भी रसोई का निर्माण नहीं करना चाहिए।

Northwest kitchen vastu remedies

किसी कारण वश रसोई का निर्माण किया भी गया हो तो चूल्हा पूर्व दिशा में होना चाहिए। मनुश्य शरीर एक इश्वर प्रदत्त बहुत ही अमूल्य रत्न है। जिसका ध्यान रखना हर एक मनुष्य का दाइत्व होता है।

Northeast kitchen

आपके रसोईघर का निर्माण वास्तु के अनुसार होगा तो उसको सकारात्मक ऊर्जा उतनी अधिक मिलेगी। उस ऊर्जा से हमारा स्वास्थ्य अच्छा होगा।

Kitchen vastu dosh remedies

आप ध्यान रखे की गैस चूल्हा और सिंक के बीच दूरी होनी चाहिए।  आप उनके बीच में छोटी लकड़ी या किसी भी चीज द्वारा एक अवरोधक दीवार बना दें। क्योंकि Kitchen vastu के अनुसार आपके घर के नौकर इन दोनों के पासमें होने से ज्यादा दिन टिक नहीं पाते है।

 Kitchen vastu

South west kitchen vastu remedies

वास्तु शास्त्र अनुसार हमेशा आप भोजन को करने से पूर्व अपने आराध्य इष्ट देव को भोग अवश्य लगायें। और एक रोटी गौ माता को भी दें। इस प्रकार करनेसे दरिद्रता नहीं आते और घर परिवार सुखी और समृद्ध शाली होता है।


What are the Vastu remedies for a North-East kitchen ?
याद रखे की आप अपने किचन में भारी बर्तन, सिल, मिक्सी आदि वस्तुएं दक्षिणी दीवार की ओर रखें। (Kitchen in north direction vastu) आप अपने किचन में पीने का पानी एक्वागार्ड फिल्टर आदि पूर्व या पूर्व-उत्तर कोने में रखें जो वास्तुशास्त्र के अनुसार शुभ माना जाता है।

Kitchen tips in hindi

ध्यान रहे की घर में भोजन बनाने वाली ग्रहणी का मुख पूर्व या उत्तर दिशा की ओर होना चाहिए। जिससे घर के सभी सदस्यों का स्वास्थ्य अच्छा रहता है और घर में सुख और समृद्धि आती है। यह हमारी भारतीय परंपरा रही है की कोई भी गृहणी किचन में बिना स्नान किये प्रवेश नहीं करती हैं।  Kitchen vastu के अनुसार भी बिना स्नान किये भोजन बनाने से भोजन अपवित्र हो जाता है।

 Kitchen vastu

Rasoi ghar ka vastu in hindi

ऐसा भोजन हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभप्रद नहीं रहता है। यही कारण है की भोजन को स्नान व ध्यान करके प्रसन्न मन से बनाना चाहिए।ऐसा करने से उस भोजन का महत्व और भी बढ़ जाता है। और उस भोजन से सात्विकता आती है।

What remedy can be used for kitchen vastu?

वास्तु के अनुसार आपके घर की रसोई घर के लिए दक्षिण पूर्व सबसे अच्छी दिशा है। ध्यान रहे किचन यदि पूर्वोत्तर में है तो संभव हैं की भोजन बर्बाद होने की सम्भावना बड़ जाती हैं। और घर में दरिद्रता बढ़ने लगती है।  आप अपने चूल्हे के ऊपर सही दूरी पर एक लाल बल्ब लगा दे तो अवश्य ही वास्तु के अनुसार शुभ होता है।

Which is a better house as per Kitchen Vastu?
वास्तु के अनुसार रसोई पूर्व दक्षिणपूर्व दिशा में बहुत ही शुभ और अच्छे स्वास्थ्य की परिचायक होती है।  हमेशा किचन स्वच्छ और साफ़ होना चाहिए जिससे दरिद्रता नहीं आती। किचन में कभी भी बिना स्नान के प्रवेश नहीं करना चाहिए। हमेशा स्वच्छ तन और मन के साथ भोजन पकाएं। जिससे उस भोजन में सात्विक तत्वों की मात्रा बढ़ जाती है।

In which direction should I face while cooking in a north-west kitchen, according to vastu?

Kitchen vastu के अनुसार कहा जाता है की दक्षिण-पूर्व प्रत्येक घर के लिए आदर्श एवं शुभ रसोई दिशा है। आपका चेहरा हमेशा रसोई में खाना पकाने के दौरान पूर्व या उत्तर दिशा में होना चाहिए। जो बहुत ही शुभ और शान्तिदायक होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *