पूर्णिमा का उपाय और महत्व Leave a comment

हिंदू पंचांग और अपने सनातन धर्म के अनुसार जब आसमान में पूर्ण चंद्रमा दिखाई देता है वह दिन पूर्णिमा कहलाता है ! हिन्दू धर्म में पूर्णिमा के दिन महीना खत्म हो जाता है अर्थात वह मास खत्म हो जाता है ! 26 अगस्त 2018 को श्रावण पूर्णिमा है और रक्षाबंधन भी है !


इस दिन सप्तर्षियों की पूजा करनी चाहियें , नारद पुराण के अनुसार पूर्णिमा के दिन पितरों का तर्पण करना चाहिए जिससे हमें जीवन में अनेक प्रकार के लाभ मिल सके ! इस दिन विशेष रूप से लाल कपड़े में अक्षत रखकर लाल धागे से बांध कर पानी से सींचकर ताम्बे के वर्तन में रख देना चाहियें !

वैसे यह सावन पूर्णिमा 25 अगस्त को ही 3:16 मिंट शाम से शनिवार के दिन शुरू हुई इसका समापन 26 अगस्त 2018 रविवार को शाम 5:25 पर होगा ! पूर्णिमा के दिन यदि हम व्रत रखते हैं उसका फल अनेक प्रकार से मिलने को प्राप्त होता है, वर्ष में कुछ ऐसे दिन होते है जब हम कई बार व्रत रखना भूल जाते हैं या पूजा इत्यादि करना भूल जाते हैं !



लेकिन पूर्णिमा के व्रत रखने से पूरे साल के व्रत का फल प्राप्त होता है , श्रावण पूर्णिमा के दिन रक्षा बंधन भी होता है , रक्षाबंधन का शुभ मुहूर्त सुबह 5:19 से शाम 5:25 बजे तक रहेगा , यह दिन हमारे लिए बहुत ही महत्वपूर्ण रहेगा .

अब हम जानते हैं पूर्णिमा के दिन हम ऐसा अचूक उपाय के माध्यम से जीवन की सारी समस्याओं को खत्म कर सकते हैं पूर्णिमा के दिन रात्रि के समय 15 से 20 मिनट आपको त्राटक करना है त्राटक अर्थात 15 से 20 मिनट आपको चंद्रमा को देखना है और ऊँ श्रां श्रीं श्रौं चन्द्रमसे नम: का जप करना है जिससे जीवन में आने वाली हर समस्या खत्म हो जाएगी और आप खुशहाल रहेंगे./

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *