धन आने के सारे दरवाजे खोल देती है ये 3 अद्भुत चीज !

श्री महालक्ष्मी यन्त्र

7 गोमती चक्र

11 कौड़ी

आइये जानते है हिन्दू धर्म शास्त्रों के अनुसार ये 3 चीज किसी व्यक्ति के जीवन में कितना बदलाव ला सकती है और किस तरीके से आपको ये 3 चीज उपयोग करनी है..

हिन्दू धर्म में माँ लक्ष्मी को धन की देवी माना गया है और जिस स्थान पर माँ लक्ष्मी की कृपा होती है उस स्थान पर कभी भी धन की कमी नहीं होती और ऐसे स्थान से आर्थिक तंगी हमेशा के लिए चली जाती है.

काफी बार देखा गया है की मेहनत करने के बाद भी हमे उचित परिणाम नहीं मिलता या फिर घर के सभी सदस्य कमाते है लेकिन फिर भी बचत नहीं हो पाती.. ऐसे में हम सोचते है की हमारी किस्मत बहुत खराब है.

लेकिन इसका सबसे बड़ा कारण होता है माँ लक्ष्मी की उस स्थान पर कृपा ना होना. जीवन में तरक्की और घर में धन की बरकत के लिए माँ लक्ष्मी को मनाने का हर संभव प्रयास करना चाहिए और आज हम आपके लिए लेकर आये है 3 ऐसी अद्भुत चीज जिन्हे यदि घर में रख दिया जाये तो खुद माँ लक्ष्मी दौड़ी चली आएँगी आपके घर...

Puja Vidhi

सबसे पहले एक शुभ मुहूर्त चुने और इसके लिए पूर्णिमा, एकादशी जैसे दिन विशेष माने गए है. इसके बाद घर में गंगाजल का छिड़काव करे और पूजा का स्थान सुनिश्चित करे.

फिर एक चौकी पर लाल कपडा बिछा कर माँ लक्ष्मी की तस्वीर/प्रतिमा स्थापित करे और धुप, दीप, पुष्प से माँ लक्ष्मी का पूजन करे.

इसके बाद माँ लक्ष्मी की प्रतिमा के सामने 11 कौड़ी, 7 गोमती चक्र और महालक्ष्मी यंत्र स्थापित करे और इस मंत्र का 108 बार जप करे..

"ॐ श्री महालक्ष्म्यै नमः"

पूजन के पश्चात इस सामग्री को लाल कपडे में लपेट कर घर की तिजोरी में रख दे. ऐसा करने से निकट समय में धन वृद्धि के योग बनेगे और आपके घर में माँ लक्ष्मी का स्थाई निवास होगा.

पूजन सामग्री Price - 475 INR

गोमती चक्र

गोमती चक्र को लक्ष्मी जी का प्रतीक माना जाता है. इनकी एक तरफ उठी हुई सतह होती है और दूसरी तरफ चक्र होता है. तंत्र शास्त्र से लेकर वास्तु शास्त्र तक सभी ने इसके विशेष फायदे बताए हैं.

कहा जाता है की किसी भी शुभ मुहूर्त में इसकी पूजा लाभदायक मानी गई है और यही कारण है की होली, दीवाली तथा नवरात्र आदि प्रमुख त्योहारों पर गोमती चक्र की विशेष पूजा की जाती है. सर्वसिद्धि योग तथा रविपुष्य योग पर इसकी पूजा करने से घर में सुख-शांति बनी रहती है.

गोमती चक्र का सबसे अधिक उपयोग मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए किया जाता है. यदि इनके उपयोग से कोई शास्त्रीय उपाय, किसी खास दिन किया जाए, तो मां लक्ष्मी प्रसन्न होकर कृपा दृष्टि बरसाती हैं।

कौड़ी

पौराणिक शास्त्रों में कुछ ऐसी चमत्कारी वस्तुओं का वर्णन है, जिन्हें धन संबंधित विशेष माना जाता है। इन वस्तुओं से महालक्ष्मी की विशेष कृपा प्राप्त होती है व धन में बरकत होती है। इन्हीं वस्तुओं में से अति विशिष्ट वस्तु है लक्ष्मी की प्रिय कौड़ी।
पौराणिक मतानुसार देवी लक्ष्मी का जन्म समुद्रमंथन से हुआ था। समुद्र में अनगिनत प्रकार के अमूल्य रत्न जैसे की शंख, मोती व कौड़ी पाए जाते हैंं। अतः समस्त प्रकार के जल से उत्पन्न रत्नों की अधिष्ठात्री देवी महालक्ष्मी ही हैं। कौड़ी एक रत्न है जो की धन के समान ही मूल्यवान हैं।
यदि पूजा में माँ लक्ष्मी की प्रिय - कौड़ी को रखा जाए तो इससे विशेष फल की प्राप्ति होती है

महालक्ष्मी यन्त्र

माता लक्ष्मी को इस संसार में भौतिक सुखों को प्रदान करने वाली देवी के रूप में पूजा जाता है. माता लक्ष्मी की पूजा और उन्हें प्रसन्न करने के लिए ही महालक्ष्मी यंत्र (Shree Mahalaxmi Yantra) की पूजा और स्थापना की जाती है.

इस यंत्र के पूजन एवं स्मरण मात्र से वैभव एवं सुख की प्राप्ति होती है. महालक्ष्मी यन्त्र की पूजा एवं स्थापना द्वारा व्यक्ति को अपने निवास स्थान में लक्ष्मी का स्थाई निवास प्राप्त होता है. श्री महालक्षमी यंत्र का पूजन से समस्त सुखों एवं धन की प्राप्ति संभव हो पाती है. 

महालक्ष्मी यंत्र की स्थापना किसी भी शुभ दिन की जा सकती है

Copyright@2017 thebhakti.com

Privacy Policy

Contact Us